December 5, 2021
Education

Delhi: JNU में फिर हुई हिंसा, ABVP ने AISA पर लगाया मारपीट का आरोप, कई छात्र घायल

नई दिल्‍ली:

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में एक बार फिर से छात्र संगठनों के बीच टकराव देखने को मिला। सूत्रों से पता चला है कि वामपंथी छात्र संगठन ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (AISA), स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (SFI) और बीजेपी से जुड़े छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) के सदस्यों के बीच बीती रात हुई झड़प में 12 से अधिक छात्र घायल हो गए। घायल छात्रों में से 3 की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है। छात्रसंघ के सदस्यों ने बताया कि झड़प में गंभीर रूप से घायल छात्रों को नई दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती कराया गया है।


जानकारी के मुताबिक, दिल्ली में जेएनयू के अंदर रविवार की शाम छात्रों के दो गुटों में बहस और धक्का-मुक्की हुई है। ABVP ने AISA के छात्रों पर मारपीट का आरोप लगाया है। ABVP ने आरोप लगाया है की जब वो लोग यूनिवर्सिटी में मीटिंग कर रहे थे उसी दौरान AISA से जुड़े छात्रों ने आकर मारपीट की। आरोप है कि कई छात्रों को चोट आई है, जिसके बाद AIIMS में इलाज करवाया गया। मामला 14 नवंबर रात 9 बजकर 45 मिनट का बताया जा रहा है। आरोप लगाया जा रहा है कि स्टूडेंट एक्टिविटी रूम में जब ABVP की मीटिंग चल रही थी, तभी वामपंथी विचारधारा के समर्थक AISA और SFI जैसे संगठनों ने उनपर हमला कर दिया।


डीसीपी साउथ वेस्ट गौरव शर्मा के मुताबिक रविवार को थाना वसंत कुंज नार्थ में नारेबाजी और झगड़े की आशंका की सूचना मिली थी। पुलिस ने तुरंत कॉल का जवाब दिया। हालांकि मौके पर किसी तरह का झगड़ा नहीं हुआ। पूछताछ करने पर पता चला कि छात्र संघ हॉल में मीटिंग आयोजित करने को लेकर छात्रों के दो गुटों में तीखी नोकझोंक हुई।


जेएनयूएसयू ने अभी तक कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई है। वहीं एबीवीपी से जुड़े छात्रों ने थाने में जाकर लिखित शिकायत दी। साथ ही लेफ्ट से जुड़े एक छात्र ने भी शिकायत दी है। दोनों पक्ष एक-दूसरे पर बैठक में खलल डालने और दूसरे पक्ष से मारपीट करने का आरोप लगा रहे हैं। इसके अलावा, जांच जारी है और तदनुसार कानूनी कार्रवाई की जाएगी।


पिछले साल भी हुई थी हिंसा 

पिछले साल JNU में 5 जनवरी 2020 को भयानक हिंसा हुई थी। उस समय टीचर्स और छात्रों ने मिलकर एक मार्च का आयोजन किया था। तभी वहां कुछ नकाबपोश लोग आए और मारपीट शुरू कर दी। कुछ नकाबपोश लोगों की तस्वीरें भी सामने आई थी। कोमल शर्मा नाम की एक लड़की की तस्वीर भी सामने आई थी, जिसके बारे में कहा गया था कि वो ABVP से जुड़ी हुई है। इस मामले में वसंत कुंज थाने में केस दर्ज किया गया था। बाद में केस को क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दिया गया। इसी साल अगस्त में गृह मंत्रालय ने संसद में जानकारी दी थी कि इस हिंसा के मामले में अब तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

Story Origin : नई दिल्ली

Comments

Leave a comment

HEADLINES

अलीगढ़ के डॉक्टरों ने किया कमाल, 5 महीने के मासूम के दिल-फेफड़ों को 110 मिनट रोककर दिया जीवनदान | Earthquake in Assam: असम और गुवाहाटी में लगे तेज भूकंप के झटके, जानमाल का नुकसान नहीं | किसान आंदोलनः आगे की रणनीति पर SKM की बैठक आज, कल भी होगी बैठक | जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में सुरक्षाबलों ने 1 आतंकी ढेर किया, मुठभेड़ जारी | कृषि कानूनों की वापसी BJP की चुनावी स्वार्थ व मजबूरी, ठोस फैसले लेने की जरूरत- मायावती | छत्तीसगढ़ को मिला सबसे स्वच्छ राज्य का अवार्ड, CM भूपेश बोले- महिलाओं ने बनाया नंबर-1 | सलमान खान का नया गाना 'कोई तो आएगा' रिलीज, एक्शन में भाईजान | करतारपुर साहिब के लिए रवाना हुए सिद्धू, अमृतसर आवास पर अरदास कर टेका मत्था | Bitcoin में आई बड़ी गिरावट, एक माह के निचले स्तर पर पहुंचे रेट | Lakhimpur Case: प्रियंका गांधी बोलीं- गृह राज्यमंत्री के साथ मंच साझा नहीं, उन्हें बर्खास्त करें पीएम मोदी | इंदौर ने फिर रचा इतिहास, लगातार 5वीं बार मिला देश में सबसे स्वच्छ शहर का अवॉर्ड | Rajasthan Cabinet Expansion: गोविंद सिंह डोटासरा का इस्तीफा, माकन से मिलेंगे पायलट, शपथ ग्रहण कल | वर्चुअल सुनवाई के दौरान बनियान में ही आ गया शख्स, दिल्ली HC ने लगाया 10 हजार का जुर्माना | देश भर के स्‍कूलों में जाएंगे टोक्‍यो ओलंपिक के हीरो, सरकार ने बनाया मेगा प्‍लान | स्वच्छता सर्वेक्षण: वाराणसी ने पेश की मिसाल, सबसे स्वच्छ गंगा शहर की लिस्ट में पहला स्थान मिला |