October 26, 2021
जल जंगल ज़मीन

कम बारिश के चलते छत्तीसगढ़ में पानी की समस्या; नदियों-तालाबों में पड़ा सूखा, 46 डेम में से सिर्फ 3 में बचा पानी

रायपुर: छत्तीसगढ़ में समय से पूर्व आया मानसून काम नहीं आया। जुलाई-अगस्त के महीने में सामान्य से बहुत कम पानी बरसा जिसकी वजह से किसान मानसून की बेरुखी की मार झेल रहे हैं। अगर आने वाले दिनों में बारिश नहीं हुई, तो छत्तीसगढ़ में जल संकट गहरा सकता है। क्योंकि नदी-नाले -तालाब सभी सूख गए है। सिचाई तो दूर अभी से निस्तार की समस्या शुरु हो गई है। प्रदेश के 46 डेम और जलाशयों में से महज 3 ऐसे हैं, जिसमें 100 फीसदी पानी है। करीब दर्जन भर जिलों में कमोबेश यही स्थिति है। इससे किसान ही नही आमलोग भी टेंशन में है।

छत्तीसगढ़ का सुकमा प्रदेश का एकलौता ऐसा जिला है जहां पिछले सालों की अपेक्षा इस बार 44% अधिक बारिश दर्ज की गई है। इसके अलावा छत्तीसगढ़ के 14 जिलों में औसत बारिश हुई है। जबकि 12 जिलों में खंड बारिश की स्थिति बनी हुई है। पिछले साल अगस्त महीने में 890.6 एमएम पानी गिरा था, लेकिन इस बार बारिश सिर्फ 760.9 एमएम हुई है। इस बार पूरे छत्तीसगढ़ में 15% कम बारिश दर्ज की गई है और मौसम विभाग का कहना है कि सितम्बर अंत में मानसून की वापसी होगी।


छत्तीसगढ़ में डेम और जलाशयों की स्थिति-

प्रदेश में पूरी तरह खंड बारिश की स्थित है 760.9 एमएम। अब तक 15 प्रतिशत कम बारिश हुई है।
46 डेम और जलाशयों में से 4 में ही 100 फीसदी पानी भरा है।
23 जलाशयों में 50 फीसदी से कम पानी है।
11 जलाशयों में 50 से 70 फीसदी तक पानी भराव है।
5 डेम ऐसे जिसमें 20 प्रतिशत से भी कम पानी का भराव हुआ है।


छत्तीसगढ़ के कम पानी वाले जलाशय

बालौद के तान्दूल में 15.83 प्रतिशत जल भराव हुआ है।
कांकेर के पारलीकोट में 8.89 प्रतिशत भराव हुआ है।
राजनांदगांव के मटिया मोती में 10.80 प्रतिशत जल भराव है।
महासमुंद के केशवा में 18.60 प्रतिशत जल भराव है। 
कांकेर के मयाना में 10.18 प्रतिशत जल भराव हुआ है।


छत्तीसगढ़ के 100 प्रतिशत जल भराव वाले डेम

कोरिया के झुमका और गज 100 प्रतिशत जल भराव।
बिलासपुर के खारंग 100 प्रतिशत जल भराव।
मुंगेली के मनियारी में 100 प्रतिशत पानी भरा है।

मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि ऐसा कोई सिस्टम अभी नहीं बन रहा है कि पूरे प्रदेश में एक साथ अच्छी बारिश हो। इसके साथ उन्‍होंने कहा कि बस्तर में आने वाले दो दिनों में बारिश होगी, लेकिन प्रदेश के अन्य जिलो में हल्की से मध्यम वर्षा हो सकती है।


बस्तर संभाग में हालात खराब

छत्तीसगढ़ में सबसे अधीक स्थिति बस्तर संभाग में खराब है। सुकमा जिले को छोड़कर अन्य जिलों में बारिश न के बराबर हुई है। प्रदेश के 12 जिलों में कम बारिश अब तक दर्ज की गई है। इस वजह से न तो खेतों की प्यास बुझ सकी है और न ही डेम व जलाशयों के कंठ गीले हुए हैं।


अब तक राज्य में 783.1 मिमी औसत वर्षा

राज्य शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बनाए गए राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष द्वारा संकलित जानकारी के मुताबिक 1 जून 2021 से अब तक राज्य में 783.1 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। राज्य के विभिन्न जिलों में 01 जून से आज 29 अगस्त तक रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार कोरबा जिले में सर्वाधिक 1143.3 मिमी और बालोद जिले में सबसे कम 517.2 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गयी है।


बालोद जिले में सबसे कम 517.2 मिमी औसत वर्ष

राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सरगुजा में 723.7 मिमी, सूरजपुर में 990.5 मिमी, बलरामपुर में 789.8 मिमी, जशपुर में 821.4 मिमी, कोरिया में 820.6 मिमी, रायपुर में 629.1 मिमी, बलौदाबाजार में 745.4 मिमी, गरियाबंद में 695.8 मिमी, महासमुंद में 604.1 मिमी, धमतरी में 658.7 मिमी, बिलासपुर में 803.7 मिमी, मुंगेली में 758.6 मिमी, रायगढ़ में 678.4 मिमी, जांजगीर चांपा में 807.1 मिमी, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 961.2 दुर्ग में 688.5 मिमी, कबीरधाम में 621.3 मिमी, राजनांदगांव में 576.1 मिमी, बेमेतरा में 897.2 मिमी, बस्तर में 782.3 मिमी, कोण्डागांव में 764.1 मिमी, कांकेर में 676.0 मिमी, नारायणपुर में 908.3 मिमी, दंतेवाड़ा में 853.2 मिमी, सुकमा में 1135.7 मिमी और बीजापुर में 876.6 मिमी औसत वर्षा रिकार्ड की गई।

Story Origin : रायपुर

Comments

Leave a comment

HEADLINES

Lakhimpur Kheri violence : कांग्रेस ने 4 किसान, 1 पत्रकार के परिजनों को दी 1 करोड़ की मदद | UP Board Exam 2022: यूपी बोर्ड परीक्षा 2022 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 8 नवंबर तक बढ़ी | UP: योगी सरकार अब माफियाओं से खाली कराई गई जमीन पर बनाएगी सस्ते घर, गरीबों और कर्मचारियों को मिलेगा लाभ | Gorakhpur : नशे में धुत दबंगों ने पुलिसकर्मी को लाठी-डंडों से पीटा | Kisan Andolan: योगेंद्र यादव के निलंबन पर राकेश टिकैत की दो टूक, बोले- 40 लोगों की कमेटी का फैसला सही | हरियाणा: पतंजलि गोदाम में काम करने के बाद घर लौट रहे 3 युवकों की सड़क हादसे में मौत | UP Assembly Elections: यूपी चुनाव को लेकर कांग्रेस की अहम बैठक आज, महिला उम्मीदवारों को दी जाएगी प्राथमिकता | बॉलीवुड एक्ट्रेस मीनू मुमताज का कनाडा में निधन, मीना कुमारी ने रखा था इनका नाम | हिमाचल में फिर बढ़े दाम, शिमला में 105 रुपये के करीब पहुंचा पेट्रोल | 14 साल के लड़के को मिला 100 साल पुराना लव लेटर, लिखा था- 'चुपके से आधी रात में आना मिलने' | लहंगे में छुपाकर ऑस्‍ट्रेलिया भेजी जा रही थी सुडोफेड्रीन ड्रग्‍स, NCB ने पकड़ा | COVID-19 in India: 24 घंटे में कोरोना के 16326 नए मामले, केरल ने मौत के आंकड़े जोड़े तो बढ़ी धड़कन | ICC T20 WC: भारत पाकिस्तान मैच पर लगा 1000 करोड़ रुपये का सट्टा, एंटी करप्शन यूनिट मुस्तैद | बच्चों की कोरोना वैक्सीन पर अदार पूनावाला बोले- हम जल्दबाजी नहीं करेंगे | NCB की रडार पर 'प्रसिद्ध हस्ती' का नौकर, अनन्या पांडे के कहने पर आर्यन खान तक ड्रग्स पहुंचाने का शक |