October 26, 2021
जल जंगल ज़मीन

मध्य प्रदेश - सरकार ने वापस माँगा किसानों को मिला 'पीएम सम्मान निधि' का पैसा

MP | मध्यप्रदेश में राजस्व विभाग की लापरवाही की वजह से मध्य प्रदेश के हजारों किसान मुसीबत में पड़ गए हैं। पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत उनके खातों में पैसे डाले गए थे, जिनको उन्होंने अपनी जरूरत में खर्च कर लिया है, लेकिन अब उनको अपात्र बताकर खातों में डाले गए पैसों को वापस करने के लिए नोटिस दिए जा रहे हैं और वापस नहीं करने पर उनकी चल अचल संपत्ति कुर्क करने की चेतावनी दी जा रही है। 

200 महिला किसानों को नोटिस

ताजा मामला प्रदेश के छतरपुर जिले का है। तहसीलदार छतरपुर ने पीएम किसान सम्मान करीबन 200 महिला किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि वापस करने का नोटिस दिया है, क्योंकि उनके पतियों को भी यह सम्मान निधि मिली है, पति अलग किसान हैं और पत्नी अलग किसान। लेकिन पति पत्नी में से किसी एक को ही सम्मान निधि दिए जाने की योजना है, नोटिस में चेतावनी दी गई है की राशि वापस नहीं करने पर चल अचल संपत्ति कुर्क की जाएगी। 

नोटिस मिलते ही किसानों को हड़कंप मच गया है, यह वो किसान हैं, जिनके परिवारों को खेती की जमीन के संयुक्त खाते हैं और उनको अलग-अलग खातेदार बनाकर योजना का लाभ मिल गया है। इसका खुलासा उस समय हुआ, जब प्रशासन ने किसानों की जांच कराई जांच में तो किसानों को अपात्र माना गया है और इन अपात्र किसानों को नोटिस जारी किए गए हैं। 

अकेले ग्राम पंचायत श्रावण और चौका में सैकड़ों किसानों को नोटिस जारी किया गया है। किसानों का आरोप है कि जब सम्मान निधि के फॉर्म भरे जा रहे थे, उस समय जांच करना चाहिए था। पहले बिना जांच के सम्मान निधि का बंटवारा कर दिया, अब जब किसानों ने राशि खर्च कर ली है, तो सरकार किसानों से प्रधानमंत्री सम्मान निधि वापस मांग रही है। 

किसानों का कहना है कि किसी के खाते में 6000 आए हैं, तो किसी के खाते में 8000 आए हैं। लेकिन नोटिस 10000 का आया है, तहसीलदार के इस फरमान से किसानों में हड़कंप मच गया है और वह हैरान-परेशान से यहां वहां मदद की गुहार लगाते फिर रहे हैं। 

PM की सम्मान निधि योजना क्या है ?

सरकार इसके अंतर्गत छोटे और मझोले किसानों को आर्थिक सहायता देती है, जिसके पास में 2 हेक्टर से कम भूमि हो। इन योजनाओं के तहत सभी किसानों को न्यूनतम आय सहायता के रूप में प्रति वर्ष 6000 दिए जाते हैं। दिसंबर 2018 से यह योजना लागू की गई था। सहायता राशि सीधे किसान के खाते में दो 2000 के रूप में आती है। इस योजना में शामिल खाते वाले परिवार में से किसी एक व्यक्ति को योजना का लाभ मिल सकता है, वही इनकम टैक्स पेयर्स और पेंशनर्स भी इस योजना के तहत अपात्र होते हैं। 

मध्य प्रदेश में किसानों को मिला पीएम सम्मान निधि का पैसा, अब वापस मांग रही सरकार

नोटिस पर किसनो ने क्या कहा ?

हमारे नाम से जमीन का खाता है, पत्नी के नाम से भी खाता है। दोनों के खाते में पैसे आए, अब उनसे पैसे वापस मांगे जा रहे हैं।  छतरपुर के किसान जस्सू खान छतरपुर तहसील कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं। इनकी उम्र 80 साल हो गई है और उनकी पत्नी विकलांग और बीमार रहती हैं, यह पैसा उनके इलाज में खर्च हो गया है। 

केंद्र की योजनाओं को पूर्व कृषि मंत्री ने बताया ढकोसला

इस मामले में मध्यप्रदेश के पूर्व कृषि मंत्री सचिन यादव का कहना है कि देश के प्रधानमंत्री लगातार देश की जनता को मूर्ख बनाने का काम कर रहे हैं और एक तरफ तो बड़े-बड़े कार्यक्रम किये जा रहे हैं और वाहवाही लूटने का काम किया जा रहा है और दूसरी तरफ हमारे सीधे साधे भोले भाले किसानों को नोटिस दिए जा रहे हैं, उनको प्रताड़ित किया जा रहा है। उनको डराया धमकाया जा रहा है और उनके खातों में जो राशि डाली गई है, वो राशि वापस करने का काम किया जा रहा है। 

कृषि मंत्री बोले - इस योजना में नियम है कि पति-पत्नी एक परिवार माना जाता है। परिवार में से किसी एक को योजना का लाभ मिल सकता है और यह राजस्व विभाग के निचले स्तर के अधिकारी कर्मचारियों की लापरवाही रही, जिसके कारण परिवार में पति पत्नी दोनों को योजना का लाभ मिल गया। आपने यह मामला मेरे संज्ञान में लाया है। यह मामला राजस्व विभाग का है, लेकिन फिर भी किसानों से जुड़ा होने के कारण मैं इस मामले में छतरपुर कलेक्टर से बात करूंगा और उनसे कहूंगा कि इस तरह से किसानों को परेशान नहीं किया जाए और जो महिलाओ को नोटिस मिला है इनके पतियों की आने वाली किस्त में एडजस्टमेंट किया जाए। 


 

Story Origin : मध्य प्रदेश

Comments

Leave a comment

HEADLINES

Lakhimpur Kheri violence : कांग्रेस ने 4 किसान, 1 पत्रकार के परिजनों को दी 1 करोड़ की मदद | UP Board Exam 2022: यूपी बोर्ड परीक्षा 2022 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 8 नवंबर तक बढ़ी | UP: योगी सरकार अब माफियाओं से खाली कराई गई जमीन पर बनाएगी सस्ते घर, गरीबों और कर्मचारियों को मिलेगा लाभ | Gorakhpur : नशे में धुत दबंगों ने पुलिसकर्मी को लाठी-डंडों से पीटा | Kisan Andolan: योगेंद्र यादव के निलंबन पर राकेश टिकैत की दो टूक, बोले- 40 लोगों की कमेटी का फैसला सही | हरियाणा: पतंजलि गोदाम में काम करने के बाद घर लौट रहे 3 युवकों की सड़क हादसे में मौत | UP Assembly Elections: यूपी चुनाव को लेकर कांग्रेस की अहम बैठक आज, महिला उम्मीदवारों को दी जाएगी प्राथमिकता | बॉलीवुड एक्ट्रेस मीनू मुमताज का कनाडा में निधन, मीना कुमारी ने रखा था इनका नाम | हिमाचल में फिर बढ़े दाम, शिमला में 105 रुपये के करीब पहुंचा पेट्रोल | 14 साल के लड़के को मिला 100 साल पुराना लव लेटर, लिखा था- 'चुपके से आधी रात में आना मिलने' | लहंगे में छुपाकर ऑस्‍ट्रेलिया भेजी जा रही थी सुडोफेड्रीन ड्रग्‍स, NCB ने पकड़ा | COVID-19 in India: 24 घंटे में कोरोना के 16326 नए मामले, केरल ने मौत के आंकड़े जोड़े तो बढ़ी धड़कन | ICC T20 WC: भारत पाकिस्तान मैच पर लगा 1000 करोड़ रुपये का सट्टा, एंटी करप्शन यूनिट मुस्तैद | बच्चों की कोरोना वैक्सीन पर अदार पूनावाला बोले- हम जल्दबाजी नहीं करेंगे | NCB की रडार पर 'प्रसिद्ध हस्ती' का नौकर, अनन्या पांडे के कहने पर आर्यन खान तक ड्रग्स पहुंचाने का शक |