October 26, 2021
जल जंगल ज़मीन

क्यों पाकिस्तान बना चीन का सबसे बड़ा खरीदार? जानें अमेरिका समेत कई देशों की चीन से खफा होने की वजह

नई दिल्ली : इस समय दुनिया में युद्ध हो या न हो लेकिन हर देश हाथियारों के निर्माण में सबसे अवल आने की होड़ में लगा हुआ है। इस वक़्त हाथियारों के निर्माण में सबसे ऊपर अमेरिका का नाम शुमार है, जो दुनियाभर के देशों में हथियार निर्यात में लगभग 37 फीसदी भागीदारी रखता है।

इस दौड़ में चीन भी अपनी हथियारों को बेचने में लगा हुआ था, लेकिन कोरोना का ज़िम्मेदार मानते हुए कई देशों ने चीन को हथियार बेचने से किनारा कर लिया है। स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (SIPRI) की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, चीन से हतियार लेने वाले देश अब चीन से हथियार खरीदने में किनारा कर रहे है।

जानकारी के अनुसार, चीन हमेशा से अपने पडोसी देशो के निर्मित हतियारों को अपने सैन्य बल में शामिल करने में लगा रहता है। इंडोनेशिया, मलेशिया और वियतनाम के साथ वो अपने संबंध बिगाड़ चुका. अब वो इन देशों को हथियार समेत लड़ाकू विमान बेचना चाहता है लेकिन तनाव के चलते कोई राजी नहीं। इधर भारत वैसे भी चीन से हथियार नहीं खरीदता था. अब वो भी आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत बहुत से रक्षा उपकरण खुद बना रहा है। यही कारण है कि, साल 2016-20 के बीच भारत के हथियारों के आयात में 33 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।

कई देश चेन से है भड़के-
कोरोना के फैलने को लेकर चीन के पास बचे यूरोपीय देश चीन से काफी भड़के हुए हैं। चीन की लापरवाही के कारण ही कोरोना दुनिया में फैला है ऐसा अमेरिका जैसे कई देशों का मानना है, जिसके चलते चीन की मुश्किलें बढ़ गयी है। अमेरिका तो ये तक कहता है कि, चीन ने जानकर वायरस फैलाया ताकि दुनिया की इकोनॉमी चरमरा जाए। ऐसे में अमेरिका के मित्र देश भी चीन से हथियार खरीदने से बच रहे हैं। फॉरेन पॉलिसी की एक रिपोर्ट में इस बात का जिक्र है।

पकिस्तान है चीन का सबसे बड़ा खरीदार-
अब छोटे देश भी चीन से हथियार खरीदने से मुकर रहे है। तो चीन के पास ले-देकर एक देश बाकी है- पाकिस्तान। अगर बात आकड़ो की करे तो इस्लामाबाद ने बीते पांच सालों में जितने हथियार आयात किए हैं, उनमें 74% हिस्सेदारी चीन की है. ये साल  2015 तक 61% थी। पाकिस्तान के अलावा बांग्लादेश और अल्जीरिया भी चीन से हथियार आयात करते रहे. ये बात सिपरी ने बताई है।

Comments

Leave a comment

HEADLINES

Lakhimpur Kheri violence : कांग्रेस ने 4 किसान, 1 पत्रकार के परिजनों को दी 1 करोड़ की मदद | UP Board Exam 2022: यूपी बोर्ड परीक्षा 2022 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 8 नवंबर तक बढ़ी | UP: योगी सरकार अब माफियाओं से खाली कराई गई जमीन पर बनाएगी सस्ते घर, गरीबों और कर्मचारियों को मिलेगा लाभ | Gorakhpur : नशे में धुत दबंगों ने पुलिसकर्मी को लाठी-डंडों से पीटा | Kisan Andolan: योगेंद्र यादव के निलंबन पर राकेश टिकैत की दो टूक, बोले- 40 लोगों की कमेटी का फैसला सही | हरियाणा: पतंजलि गोदाम में काम करने के बाद घर लौट रहे 3 युवकों की सड़क हादसे में मौत | UP Assembly Elections: यूपी चुनाव को लेकर कांग्रेस की अहम बैठक आज, महिला उम्मीदवारों को दी जाएगी प्राथमिकता | बॉलीवुड एक्ट्रेस मीनू मुमताज का कनाडा में निधन, मीना कुमारी ने रखा था इनका नाम | हिमाचल में फिर बढ़े दाम, शिमला में 105 रुपये के करीब पहुंचा पेट्रोल | 14 साल के लड़के को मिला 100 साल पुराना लव लेटर, लिखा था- 'चुपके से आधी रात में आना मिलने' | लहंगे में छुपाकर ऑस्‍ट्रेलिया भेजी जा रही थी सुडोफेड्रीन ड्रग्‍स, NCB ने पकड़ा | COVID-19 in India: 24 घंटे में कोरोना के 16326 नए मामले, केरल ने मौत के आंकड़े जोड़े तो बढ़ी धड़कन | ICC T20 WC: भारत पाकिस्तान मैच पर लगा 1000 करोड़ रुपये का सट्टा, एंटी करप्शन यूनिट मुस्तैद | बच्चों की कोरोना वैक्सीन पर अदार पूनावाला बोले- हम जल्दबाजी नहीं करेंगे | NCB की रडार पर 'प्रसिद्ध हस्ती' का नौकर, अनन्या पांडे के कहने पर आर्यन खान तक ड्रग्स पहुंचाने का शक |