October 26, 2021
जल जंगल ज़मीन

किसान आंदोलन के 108 दिन पूरे, गर्मी से बचने के लिए किसानो ने सिंघु बॉर्डर पर शुरू किया पक्के घरों का निर्माण

नई दिल्ली | दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर पिछले 108 दिनों से धरना दे रहे किसान ढीले पड़ने का नाम नहीं ले रहे हैं। अपने आंदोलन को एक लेवल और ऊपर ले जाने के लिए और गर्मी से बचने के लिए आंदोलनकारी किसानो ने एक COMBINED PLAN बनाया। सिंघु  बॉर्डर पर किसानो ने अब पक्के घरों का निर्माण शुरू कर दिया है। अगर सिंघु बॉर्डर का वर्तमान नज़ारा देखा जाए, तो चारों तरफ ईंट की दीवारें दिखाई दे रहीं हैं। हालाँकि, अभी यहांसिर्फ दीवारें ही कड़ी की गयी हैं, मगर इनके ऊपर पक्की छत्त डालने की भी पूरी तैयारी है। इन पक्के घरों के ढांचे की बाहरी दीवारों पर मिट्टी का और अंदर की दीवारों पर कंक्रीट के मसाले से दीवार खड़ी की जा रही हैं। 

10 मार्च को शुरू हुआ था निर्माण ! 
किसानो द्वारा बने जा रहे पक्के घरों के निर्माण किआ काम भट तेज़ी से हो रहा है। तभी तो कुछ ही दिनों के अंतराल में घरों का ढांचा तैयार हो गया है। बताया जा रहा है किओ यहां 3 घर बनाए जाएंगे। सिंघू बॉर्डर पर 3 से 4 की संख्या में ऐसे पक्के घर बनाये जा रहे हैं।10 मार्च से यहां निर्माण कार्य शुरू हुआ है। मौके पर फिलहाल इन घरों की दीवार खड़ी हुई नजर आ रही हैं। 

किसान नेता मंजीत राय ने कहा - 'किसान तपती गर्मी में कहां रेहेंगे, इसलिए ये पक्के घर बनाये जा रहे हैं. पंजाब के लोगों की विरासत है कि वो अच्छा खाते हैं, अच्छा पहनते हैं और अच्छा रहते हैं. इसलिए पक्के घर बनाकर इसमें AC लगाई जाएंगी. जिसमें बुजुर्ग और माता- बहने इसमें रहेंगी. कल कुंडली थाने के SHO आये थे जिन्होंने काम रुकवाया है. लेकिन हम बताना चाहते हैं कि ये काम नहीं रुकेगा. यहां पक्के घर बनेंगे और ये तब तक रहेंगे जब तक सरकार हमारी मांगे नहीं मान लेती. चाहे हमें इसके लिए 2024 तक रुकना पड़े.' 

तप्ती गर्मी से बचने की है तैयारी ! 
पक्के घरों पर जय किसान आंदोलन से जुड़े परमजीत सिंह कात्याल ने कहा कि 'गर्मी के मौसम से बचने के लिए किसान अपनी तैयारी कर रहे हैं. किसानों को लगता है सरकार उनकी मांग अभी नहीं मानेगी लिहाजा लंबे समय तक रुकने के लिए पक्के ढांचे तैयार किये जा रहे हैं. परमजीत कात्याल ने आगे बताया कि 'ये संयुक्त किसान मोर्चा की कॉल नहीं लेकिन कुछ किसान भाई अपने स्तर पर ये पक्के घर बना रहे हैं. करीब से तीन-चार ऐसे पक्के घर सिंघू बॉर्डर पर बनाये जा रहे हैं. किसानों ने सर्दियों का मौसम निकाल लिया अब गर्मी की तैयारी की जा रही है. इसके अलावा गर्मी से बचने के लिए पंखे, कूलर, AC और ठंडे पानी की व्यवस्था भी धरनास्थल पर की जा रही है.'

किसान आंदोलन की पटकथा ! 
26 नवंबर 2020 को पंजाब और हरियाणा से निकले किसानों के जत्थों ने दिल्ली की तरफ कूच किया था. दिल्ली की सीमाओं पर पुलिस के साथ हुए संघर्ष में किसानों को बॉर्डर पर ही रोक दिया गया था. 1 दिसंबर से सरकार और किसानों के बीच बातचीत का दौर शुरू हुआ. एक के बाद एक 11 दौर की बातचीत सरकार और तकरीबन 40 किसान संगठनों के नेताओं के बीच हुई. ये सारी बैठक बेनतीजा रहीं. 12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने कृषि कानूनों पर रोक लगा दी थी और एक कमेटी का गठन किया था.

26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के बाद लगने लगा था कि किसान आंदोलन कमज़ोर पड़ रहा है, लेकिन किसान नेता राकेश टिकैत के आंसुओं ने आंदोलन में नई जान डाल दी. जिसके बाद आंदोलन अगले चरण में ले जाते हुए किसान संगठनों ने हरियाणा, पंजाब, राजस्थान समेत देश के कई राज्यों पंचायत और महापंचायत की जो अभी भी जारी है.

Story Origin : दिल्ली

Comments

Leave a comment

HEADLINES

Lakhimpur Kheri violence : कांग्रेस ने 4 किसान, 1 पत्रकार के परिजनों को दी 1 करोड़ की मदद | UP Board Exam 2022: यूपी बोर्ड परीक्षा 2022 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 8 नवंबर तक बढ़ी | UP: योगी सरकार अब माफियाओं से खाली कराई गई जमीन पर बनाएगी सस्ते घर, गरीबों और कर्मचारियों को मिलेगा लाभ | Gorakhpur : नशे में धुत दबंगों ने पुलिसकर्मी को लाठी-डंडों से पीटा | Kisan Andolan: योगेंद्र यादव के निलंबन पर राकेश टिकैत की दो टूक, बोले- 40 लोगों की कमेटी का फैसला सही | हरियाणा: पतंजलि गोदाम में काम करने के बाद घर लौट रहे 3 युवकों की सड़क हादसे में मौत | UP Assembly Elections: यूपी चुनाव को लेकर कांग्रेस की अहम बैठक आज, महिला उम्मीदवारों को दी जाएगी प्राथमिकता | बॉलीवुड एक्ट्रेस मीनू मुमताज का कनाडा में निधन, मीना कुमारी ने रखा था इनका नाम | हिमाचल में फिर बढ़े दाम, शिमला में 105 रुपये के करीब पहुंचा पेट्रोल | 14 साल के लड़के को मिला 100 साल पुराना लव लेटर, लिखा था- 'चुपके से आधी रात में आना मिलने' | लहंगे में छुपाकर ऑस्‍ट्रेलिया भेजी जा रही थी सुडोफेड्रीन ड्रग्‍स, NCB ने पकड़ा | COVID-19 in India: 24 घंटे में कोरोना के 16326 नए मामले, केरल ने मौत के आंकड़े जोड़े तो बढ़ी धड़कन | ICC T20 WC: भारत पाकिस्तान मैच पर लगा 1000 करोड़ रुपये का सट्टा, एंटी करप्शन यूनिट मुस्तैद | बच्चों की कोरोना वैक्सीन पर अदार पूनावाला बोले- हम जल्दबाजी नहीं करेंगे | NCB की रडार पर 'प्रसिद्ध हस्ती' का नौकर, अनन्या पांडे के कहने पर आर्यन खान तक ड्रग्स पहुंचाने का शक |