October 26, 2021
जल जंगल ज़मीन

अमरीका ने पहली बार की सीरिया पर एयर स्ट्राइक, महीने की शुरुवात में हुए हवाई हमले का दिया जवाब

अमरीका |

25 फ़रवरी को जो बाइडेन प्रशासन द्वारा ईरान समर्थित मिलिशिया ग्रुप पर निशाना साधते हुए, सीरिया में पहली बार एयर स्ट्राइक की गयी। अमरीका द्वारा की गयी ये एयर स्ट्राइक महीने की शुरुआत में इराक में हुए रॉकेट हमले का जवाब मानी जा रही है।  इस रॉकेट हमले में एक अमेरिकी सिविलियन कॉन्ट्रैक्टर की मौत हो गई थी और अमेरिकी सैन्य बल का एक सदस्य घायल भी हुआ था। 

20 जनवरी को जब बाइडेन ने राष्ट्रपति पद संभाला, तब से ही ये कहा जा रहा था की बाइडेन का प्रशासन मिडिल ईस्ट में जारी ग्रह युद्ध पर ज़्यादा दिलचस्पी नहीं दिखाएगा। लेकिन बाइडेन के सीरिया में एयर स्ट्राइक्स करने के फैसले ने इस बात को गलत साबित कर दिया। 

पेंटागन के प्रवक्ता, जॉन किर्बी ने इस एयर स्ट्राइक के सम्बन्ध में कहा - “नियंत्रित ढंग से दी गई इस मिलिट्री प्रतिक्रिया को राजनयिक कदमों के साथ अंजाम दिया गया है. कोएलिशन के सहयोगियों से बातचीत भी की गई है. ऑपरेशन से एक मेसेज जाता है कि राष्ट्रपति बाइडेन अमेरिकन और कोएलिशन के लोगों की सुरक्षा करेंगे. अमेरिका ने 'जानबूझकर' कर इस तरह प्रतिक्रिया दी है कि 'आखिरी लक्ष्य पूर्वी सीरिया और इराक में स्थिति खराब होने से बचाई जाए."

अमेरिकी अधिकारियों ने बताया - स्ट्राइक्स छोटी और नियंत्रित रखी गई थीं। 500 पाउंड के सात बम इमारतों के एक छोटे क्लस्टर पर गिराए गए थे। ये इमारतें सीरिया-इराक सीमा पर मौजूद थीं।  

15 फ़रवरी इराक में बने अमरीकी बेस पर हवाई हमला हुआ था, जिसका जवाब अमरीका ने कुछ इस प्रकार दिया है। इसकी जिम्मेदारी सराया अवलिया अल-दाम नाम के एक शिया संगठन ने ली थी। इसके बारे में कुछ ज्यादा पता नहीं है। अमरीका में बाइडेन के राष्ट्रपति चुने जाने के कुछ दिन पहले तक इराक में अमेरिकी ठिकानों पर शिया मिलिशिया समूहों के हमले में कमी आ गई थी। 

अमेरिका में ट्रम्प के राष्ट्रपति होने के दौरान, अमरीका और ईरान के रिश्तों में काफी खटास आ गई थी। पिछले साल की शुरुआत में ईरान के टॉप जनरल कासिम सुलेमानी की अमेरिकी ड्रोन स्ट्राइक में मौत के बाद रिश्ते बद से बदतर हो गए थे। 

Story Origin : USA

Comments

Leave a comment

HEADLINES

Lakhimpur Kheri violence : कांग्रेस ने 4 किसान, 1 पत्रकार के परिजनों को दी 1 करोड़ की मदद | UP Board Exam 2022: यूपी बोर्ड परीक्षा 2022 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 8 नवंबर तक बढ़ी | UP: योगी सरकार अब माफियाओं से खाली कराई गई जमीन पर बनाएगी सस्ते घर, गरीबों और कर्मचारियों को मिलेगा लाभ | Gorakhpur : नशे में धुत दबंगों ने पुलिसकर्मी को लाठी-डंडों से पीटा | Kisan Andolan: योगेंद्र यादव के निलंबन पर राकेश टिकैत की दो टूक, बोले- 40 लोगों की कमेटी का फैसला सही | हरियाणा: पतंजलि गोदाम में काम करने के बाद घर लौट रहे 3 युवकों की सड़क हादसे में मौत | UP Assembly Elections: यूपी चुनाव को लेकर कांग्रेस की अहम बैठक आज, महिला उम्मीदवारों को दी जाएगी प्राथमिकता | बॉलीवुड एक्ट्रेस मीनू मुमताज का कनाडा में निधन, मीना कुमारी ने रखा था इनका नाम | हिमाचल में फिर बढ़े दाम, शिमला में 105 रुपये के करीब पहुंचा पेट्रोल | 14 साल के लड़के को मिला 100 साल पुराना लव लेटर, लिखा था- 'चुपके से आधी रात में आना मिलने' | लहंगे में छुपाकर ऑस्‍ट्रेलिया भेजी जा रही थी सुडोफेड्रीन ड्रग्‍स, NCB ने पकड़ा | COVID-19 in India: 24 घंटे में कोरोना के 16326 नए मामले, केरल ने मौत के आंकड़े जोड़े तो बढ़ी धड़कन | ICC T20 WC: भारत पाकिस्तान मैच पर लगा 1000 करोड़ रुपये का सट्टा, एंटी करप्शन यूनिट मुस्तैद | बच्चों की कोरोना वैक्सीन पर अदार पूनावाला बोले- हम जल्दबाजी नहीं करेंगे | NCB की रडार पर 'प्रसिद्ध हस्ती' का नौकर, अनन्या पांडे के कहने पर आर्यन खान तक ड्रग्स पहुंचाने का शक |