October 26, 2021
जल जंगल ज़मीन

टिकैत के तंबू में कांग्रेस से लेकर RLD, INLD, AAP तक सब मौजूद !

नई दिल्ली : 26 जनवरी की हिंसा के बाद किसान आंदोलनकारियों के बीच एक तनाव का माहौल बन गया था, किसान आंदोलन खतम्म हीओने की कगार पे आ गया था।  अभी राकेश टिकैत मीडिया से बातचीत के दौरान रो दिए और उनके आंसुओं ने किसान आंदोलन की गाड़ी में जैसे पेट्रोल दाल दिया या यूँ कहिये की किसान आंदोलन के दबे बीज को राकेश टिकैत के आंसुओं ने सींचा। गाजीपुर बॉर्डर पर टिकैत समेत बैठे किसानों ने उस तनाव को तकरीबन दूर कर दिया। 

पुलिस की चेतावनी के बाद भी गाजीपुर बॉर्डर से ये किसान नहीं उठे और भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत की आंसुओं ने माहौल बदल दिया। पश्चिमी यूपी, हरियाणा के अलग-अलग गांवों से किसान उठकर गाजीपुर बॉर्डर पहुंचने लगे। इतना ही नहीं मुजफ्फरनगर में महापंचायत बुलाई गई, जिसमें भारी संख्या में किसानों ने हिस्सा लिया। 

विपक्षी दाल हो रहे हैं लामबंद ! 
अब ये समर्थन सिर्फ किसानों के स्तर पर नहीं मिल रहा, बल्कि विपक्षी राजनीतिक पार्टियां भी खुलकर किसानों के समर्थन में आ रही हैं। शुक्रवार को गाजीपुर बॉर्डर पर यूपी प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, अलका लांबा, आम आदमी पार्टी नेता और दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया, आरएलडी नेता जयंत चौधरी पहुंचे.इंडियन नेशनल लोकदल के महासचिव अभय चौटाला भी राकेश टिकैत से मिलने वाले हैं। तो देखा जाए तो गाज़ी पुर बॉर्डर किसानो के समर्थन का प्रमुख स्थल बनकर उभरा। 

जयंत चौधरी किसानो के समर्थन में गाज़ीपुर बॉर्डर तक पहुँचने वाले कुछ गिने चुने नेताओं में से एक रहे। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष पूर्व केंद्रीय मंत्री अजीत सिंह ने कहा है कि 'यह किसानों के लिए करो या मरो की स्थिति है और हमें इसके लिए एकजुट होना होगा। 

इसके अलावा अलका लाम्बा, अजय कुमार लल्लू समेत हरियाणा के कांग्रेस सांसद दीपेंद्र हुड्डा भी टिकैत को समर्थन देने पहुंचे। 

अजय कुमार लल्लू ने मीडिया को बताया - "कांग्रेस पार्टी लगातार किसानों का समर्थन कर रही है और केंद्र के कृषि कानूनों का विरोध कर रही है. इस सरकार ने ये काला कानून लागू किया है. कांग्रेस पार्टी ने पिछले दिनों सड़कों पर मार्च निकाला. जिसके बाद 2 हजार से ज्यादा कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमे हुए और जेल भेजे गए. राहुल गांधी-प्रियंका गांधी ने राजभवन घेरा, कार्यकर्ताओं ने राजभवन घेरने का काम किया. हमने लगातार इन काले कानूनों का विरोध किया है."

शनिवार को दिल्ली कांग्रेस के प्रमुख अनिल कुमार चौधरी ने भी विरोध स्थल का दौरा किया और कहा कि 'कांग्रेस किसानों के समर्थन में है.कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने भी राकेश टिकैत से बात की और किसानों के लिए अपना समर्थन व्यक्त किया.

दिल्ली सरकार किसानों के साथ- सिसोदिया
दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया शुक्रवार सुबह 11.30 बजे गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे. उन्होंने ये बताया कि पार्टी के नेताओं ने दिल्ली सरकार द्वारा उन्हें प्रदान की जा रही पानी, शौचालय और नागरिक सुविधाओं का जायजा लेने के लिए सीमाओं पर किसान विरोध स्थलों का दौरा करने की योजना बनाई थी. सिसोदिया का कहना है कि आंदोलन की शुरुआत से ही प्रदर्शनकारी किसानों का समर्थन कर रही है.

आंदोलन को गाजीपुर बॉर्डर ने दी धार- योगेंद्र यादव
किसान आंदोलन में शुरुआत से मुखर रहे योगेंद्र यादव का कहना है कि गुरुवार को ऐसा लग रहा था कि सरकार-प्रशासन हर जगह से प्रदर्शन को हटाने की तैयारी में हैं. ऐसा लग रहा था कि सारे मोर्चे सिमटकर एक दो ही मोर्चे बचेंगे लेकिन जिस तरह से राकेश टिकैत ने स्टैंड लिया और कहा कि जो करना है कर लीजिए, किसान यहां से नहीं उठने वाले हैं.

राकेश टिकैत के आंसुओं वाले वीडियो ने किसान के ऊपर लगे धब्बे को धो डाला, चारों तरफ से किसान आने शुरू हो गए. स्थानीय लोग इकट्ठे होने की जो खबर आती है वो बीजेपी के लोग ही उठाकर लाते हैं, जिससे आंदोलन खत्म हो. लेकिन जब किसान नेता पहुंचने लगे तो ये सब चीज खत्म हो गई.
योगेंद्र यादव
बता दें कि क्विंट हिंदी से शुक्रवार को बातचीत में राकेश टिकैत ने कहा कि ये शांतिपू्र्ण प्रदर्शन जारी रहेगा, जब तक तीनों किसान कानून खत्म नहीं हो जाते, उन्होंने ये भी कहा कि सरकार से बातचीत के लिए वो तैयार हैं. शनिवार को उन्होंने कहा,

भारत सरकार हम लोगों से बात करे, अगर कोई माजबूरी है तो हमें बताए. हम शांति से बात बढ़ाना चाहते हैं.

सरकार और किसानों के बीच 11 राउंड की बातचीत हो चुकी है लेकिन अब तक कोई नतीजे सामने नहीं आया है. 26 जनवरी को हुई हिंसा के बाद राकेश टिकैत समेत कई किसानों के खिलाफ FIR दर्ज हो चुकी है.

Story Origin : दिल्ली

Comments

Leave a comment

HEADLINES

Lakhimpur Kheri violence : कांग्रेस ने 4 किसान, 1 पत्रकार के परिजनों को दी 1 करोड़ की मदद | UP Board Exam 2022: यूपी बोर्ड परीक्षा 2022 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 8 नवंबर तक बढ़ी | UP: योगी सरकार अब माफियाओं से खाली कराई गई जमीन पर बनाएगी सस्ते घर, गरीबों और कर्मचारियों को मिलेगा लाभ | Gorakhpur : नशे में धुत दबंगों ने पुलिसकर्मी को लाठी-डंडों से पीटा | Kisan Andolan: योगेंद्र यादव के निलंबन पर राकेश टिकैत की दो टूक, बोले- 40 लोगों की कमेटी का फैसला सही | हरियाणा: पतंजलि गोदाम में काम करने के बाद घर लौट रहे 3 युवकों की सड़क हादसे में मौत | UP Assembly Elections: यूपी चुनाव को लेकर कांग्रेस की अहम बैठक आज, महिला उम्मीदवारों को दी जाएगी प्राथमिकता | बॉलीवुड एक्ट्रेस मीनू मुमताज का कनाडा में निधन, मीना कुमारी ने रखा था इनका नाम | हिमाचल में फिर बढ़े दाम, शिमला में 105 रुपये के करीब पहुंचा पेट्रोल | 14 साल के लड़के को मिला 100 साल पुराना लव लेटर, लिखा था- 'चुपके से आधी रात में आना मिलने' | लहंगे में छुपाकर ऑस्‍ट्रेलिया भेजी जा रही थी सुडोफेड्रीन ड्रग्‍स, NCB ने पकड़ा | COVID-19 in India: 24 घंटे में कोरोना के 16326 नए मामले, केरल ने मौत के आंकड़े जोड़े तो बढ़ी धड़कन | ICC T20 WC: भारत पाकिस्तान मैच पर लगा 1000 करोड़ रुपये का सट्टा, एंटी करप्शन यूनिट मुस्तैद | बच्चों की कोरोना वैक्सीन पर अदार पूनावाला बोले- हम जल्दबाजी नहीं करेंगे | NCB की रडार पर 'प्रसिद्ध हस्ती' का नौकर, अनन्या पांडे के कहने पर आर्यन खान तक ड्रग्स पहुंचाने का शक |