October 26, 2021
जल जंगल ज़मीन

क़ुतुब मीनार परिसर में मंदिर निर्माण व पूजन के अधिकार की मांग को लेकर साकेत कोर्ट में दायर की गई याचिका पर हुई सुनवाई

नई दिल्ली:  दिल्ली की साकेत कोर्ट में गुरुवार को क़ुतुब मीनार परिसर में बनी मस्जिद को हटाकर मंदिर बनवाने की याचिका पर सुनवाई हुई। दायर याचिका के अनुसार, 27 हिंदू-जैन मंदिरों को तोड़कर कुतुब मीनार परिसर में बनाई गई मस्जिद को हटाकर मंदिर के निर्माण और विधिवत पूजा करने का अधिकार मांगा गया था, जिसपर आज सुनवाई हुई। याचिका में कुतुब मीनार परिसर में बनी कुव्वत उल इस्लाम मस्जिद पर अवैध कब्ज़े का दावा ठोका गया है। कोर्ट ने याचिका की सुनवाई पर उन तमाम पहलुओं पर विस्तृत अध्ययन किया और याचिका की सुनवाई की।  


कोर्ट में दाखिल याचिका में कुतुब मीनार परिसर में बनी क़ुव्वत उल इस्लाम मस्जिद पर दावा करते हुए कहा कि, इस मस्जिद को 27 हिंदू और जैन मंदिरों को तोड़कर बनाया गया था और इसे साबित करने के लिए इतिहास में पर्याप्त सबूत हैं। लिहाजा इस मस्जिद के लिए तोड़े गए मंदिरों को दोबारा स्थापित करने और वहां पर विधि-विधान से 27 देवी देवताओं की पूजा करने का अधिकार दिया जाए। 


आज हुई मामले की सुनवाई के बाद कोर्ट ने अगली सुनवाई 6 मार्च को तै की है। दिल्ली के साकेत कोर्ट ने याचिकाकर्ता को कहा है कि क्या सिविल कोर्ट को धार्मिक स्थान पर कोई ट्रस्ट बनाने का आदेश देने का अधिकार है ? कोर्ट ने याचिकाकर्ता को इससे जुड़े जजमेंट कोर्ट के सामने पेश करने का आदेश दिया है। 


सुचना के अनुसार, याचिका पर हुई सुनवाई लगभग डेढ़ घंटे चली जिसपर कोर्ट ने सुनवाई के दौरान पूछा कि क्या देवी-देवताओं की तरफ से ये याचिका लगाई जा सकती है. इसको लेकर कानून क्या कहता है। कोर्ट ने याचिकाकर्ता को अब इस मामले में 5 मार्च तक सभी जानकारियां उपलब्ध कराने को कहा है जिसपर 6 मार्च को कोर्ट दोबारा सुनवाई करेगा। 


आपको बता दें कि साकेत कोर्ट में यह याचिका पहले जैन तीर्थंकर ऋषभदेव और भगवान विष्णु के नाम से दाखिल की थी याचिकाकर्ता ने इतिहास में दर्ज जानकारी के आधार पर बताया था कि आज जिसे हम महरौली के नाम से जानते हैं, वह दरअसल मीरावली थी, जिसको चौथी सदी के शासक चंद्रगुप्त विक्रमादित्य के नवरत्नों में से एक वराहमिहिर ने बसाया था।

Story Origin : दिल्ली

Comments

Leave a comment

HEADLINES

Lakhimpur Kheri violence : कांग्रेस ने 4 किसान, 1 पत्रकार के परिजनों को दी 1 करोड़ की मदद | UP Board Exam 2022: यूपी बोर्ड परीक्षा 2022 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 8 नवंबर तक बढ़ी | UP: योगी सरकार अब माफियाओं से खाली कराई गई जमीन पर बनाएगी सस्ते घर, गरीबों और कर्मचारियों को मिलेगा लाभ | Gorakhpur : नशे में धुत दबंगों ने पुलिसकर्मी को लाठी-डंडों से पीटा | Kisan Andolan: योगेंद्र यादव के निलंबन पर राकेश टिकैत की दो टूक, बोले- 40 लोगों की कमेटी का फैसला सही | हरियाणा: पतंजलि गोदाम में काम करने के बाद घर लौट रहे 3 युवकों की सड़क हादसे में मौत | UP Assembly Elections: यूपी चुनाव को लेकर कांग्रेस की अहम बैठक आज, महिला उम्मीदवारों को दी जाएगी प्राथमिकता | बॉलीवुड एक्ट्रेस मीनू मुमताज का कनाडा में निधन, मीना कुमारी ने रखा था इनका नाम | हिमाचल में फिर बढ़े दाम, शिमला में 105 रुपये के करीब पहुंचा पेट्रोल | 14 साल के लड़के को मिला 100 साल पुराना लव लेटर, लिखा था- 'चुपके से आधी रात में आना मिलने' | लहंगे में छुपाकर ऑस्‍ट्रेलिया भेजी जा रही थी सुडोफेड्रीन ड्रग्‍स, NCB ने पकड़ा | COVID-19 in India: 24 घंटे में कोरोना के 16326 नए मामले, केरल ने मौत के आंकड़े जोड़े तो बढ़ी धड़कन | ICC T20 WC: भारत पाकिस्तान मैच पर लगा 1000 करोड़ रुपये का सट्टा, एंटी करप्शन यूनिट मुस्तैद | बच्चों की कोरोना वैक्सीन पर अदार पूनावाला बोले- हम जल्दबाजी नहीं करेंगे | NCB की रडार पर 'प्रसिद्ध हस्ती' का नौकर, अनन्या पांडे के कहने पर आर्यन खान तक ड्रग्स पहुंचाने का शक |