October 24, 2021
नज़र नज़रिया

कन्हैया कुमार की कांग्रेस में एंट्री के पीछे है बिहार के किस नेता का हाथ ?

पटना | JNUSU के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार और गुजरात विधायक जिग्नेश मेवाणी का स्वागत करने के लिए कांग्रेस तैयार है। मंगलवार दोपहर करीब तीन बजे दोनों युवा नेता कांग्रेस में शामिल होने के लिए तैयार हैं। हाल ही में दोनों नेताओं ने राहुल गांधी से मुलाकात की थी और सूत्रों मानें तो इन नेताओं और कांग्रेस पार्टी के बीच बातचीत को अंतिम रूप दे दिया गया है। कांग्रेस इन दोनों नेताओं को विधानसभा चुनाव से पहले उनकी वक्तृत्व और भीड़ खींचने की क्षमता के लिए साथ लाना चाहती है। उत्तर भारत के लिहाज से कन्हैया कुमार के कांग्रेस में आने की खबर मीडिया की सुर्खियां बन रही है। बचपन से वाम विचारधार के बीच पले-बढ़े कन्हैया कुमार के भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) से अलग होने ने लोगों के मन में कई तरह के सवाल खड़े किये हैं। 

कन्हैया कुमार के वाम दाल को छोड़ने के फैसले को लेकर राजनैतिक गलियारों में चर्चाएँ हो रही हैं। सवाल तो ये भी उठ रहा है कि इतनी काम उम्र में भाकपा में इतनी ज़्यादा एहमियत मिलने के बाद भी कन्हैया कुमार उससे अलग क्यों हो रहे हैं।

कन्हैया ने इस वजह से लिया भाकपा से अलग होने का फैसला ! 
कन्हैया कुमार जेएनयू में तथाकथित राष्ट्रविरोधी नारेबाजी के चलते सुर्खियों में आए थे। नारेबाजी का मुद्दा गरम होने पर कन्हैया की जिंदगी के कई पहलू मीडिया के सामने आए थे, जिसमें उनकी एक तस्वीर दिखी थी। कन्हैया कुमार के स्कूल टाइम की इस तस्वीर में वह वामदल के कद्दावर नेता एबी वर्धन उन्हें सम्मानित करते हुए दिख रहे हैं। युवा नेता के पारिवारिक बैकग्राउंड की हुई पड़ताल में पता चला कि उनके मां-पिता भी वाम विचारधारा से प्रेरित रहे हैं। ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यही उठता है कि बचपन से वाम विचारधारा के बीच बढ़ा नेता अचानक से कांग्रेस में शामिल होने का फैसला कैसे कर सकता है। 

यूं तो किसी एक विचारधारा को त्यागकर दूसरे विचारधारा का झंडा थामने की पीछे कई वजह होती है, लेकिन कन्हैया कुमार के मामले की पड़ताल करने पर एक मात्र तात्कालिक कारण दिख रहे हैं। 

कई ऐसे मामले 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान सामने आऐ थे जिसके आधार पर कहा जा सकता है कि भाकपा का बिहार राज्य नेतृत्व कन्हैया कुमार को अपने बीच पचा नहीं पा रहा था। भाकपा के कई नेताओं ने युवा कन्हैया पर ज़रूरत से ज़्यादा भरोसा जताने का आरोप लगाया। चाह कर भी कन्हैया कुमार बिहार के वाम नेताओं का पूरा सपोर्ट हासिल न कर सके। बताया जा रहा है कि दो हफ्ते पहले बेगूसराय संसदीय क्षेत्र में भाकपा के एक कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए कन्हैया कुमार को आमंत्रित किया गया था। कहा जा रहा है कि पार्टी के स्थानीय नेताओं के विरोध के चलते कन्हैया कुमार को बिना सूचित किए कार्यक्रम रद्द कर दिया गया। वहीं कन्हैया कुमार इस कार्यक्रम कें शिरकत करने के लिए दिल्ली से बेगूसराय पहुंच चुके थे। सूत्र बताते हैं कि बिना सूचना कार्यक्रम रद्द होने की बात पता चलने पर कन्हैया कुमार बेहद नाराज हो गए और उसी वक्त अपने समर्थकों से कहा कि इस पार्टी में उनका मन खट्टा हो चुका है। इस घटना को कन्हैया कुमार के भाकपा से अलग होने का मुख्य कारण बताया जा रहा है।

कन्हैया कुमार के खिलाफ उनके व्यवहार के चलते इससे पहले हैदराबाद में डी राजा की उपस्थिति में भाकपा की राष्ट्रीय कमेटी ने निंदा प्रस्ताव पारित किया था। इसे भाकपा में बड़ी सजा माना जाता है। युवा नेता कन्हैया इस बात से पहले ही नाराज चल रहे थे और बिहार भाकपा नेताओं के व्यवहार ने उनका मन और खट्टा कर दिया। 


 

Story Origin : पटना, बिहार

Comments

Leave a comment

HEADLINES

Lakhimpur Kheri violence : कांग्रेस ने 4 किसान, 1 पत्रकार के परिजनों को दी 1 करोड़ की मदद | UP Board Exam 2022: यूपी बोर्ड परीक्षा 2022 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 8 नवंबर तक बढ़ी | UP: योगी सरकार अब माफियाओं से खाली कराई गई जमीन पर बनाएगी सस्ते घर, गरीबों और कर्मचारियों को मिलेगा लाभ | Gorakhpur : नशे में धुत दबंगों ने पुलिसकर्मी को लाठी-डंडों से पीटा | Kisan Andolan: योगेंद्र यादव के निलंबन पर राकेश टिकैत की दो टूक, बोले- 40 लोगों की कमेटी का फैसला सही | हरियाणा: पतंजलि गोदाम में काम करने के बाद घर लौट रहे 3 युवकों की सड़क हादसे में मौत | UP Assembly Elections: यूपी चुनाव को लेकर कांग्रेस की अहम बैठक आज, महिला उम्मीदवारों को दी जाएगी प्राथमिकता | बॉलीवुड एक्ट्रेस मीनू मुमताज का कनाडा में निधन, मीना कुमारी ने रखा था इनका नाम | हिमाचल में फिर बढ़े दाम, शिमला में 105 रुपये के करीब पहुंचा पेट्रोल | 14 साल के लड़के को मिला 100 साल पुराना लव लेटर, लिखा था- 'चुपके से आधी रात में आना मिलने' | लहंगे में छुपाकर ऑस्‍ट्रेलिया भेजी जा रही थी सुडोफेड्रीन ड्रग्‍स, NCB ने पकड़ा | COVID-19 in India: 24 घंटे में कोरोना के 16326 नए मामले, केरल ने मौत के आंकड़े जोड़े तो बढ़ी धड़कन | ICC T20 WC: भारत पाकिस्तान मैच पर लगा 1000 करोड़ रुपये का सट्टा, एंटी करप्शन यूनिट मुस्तैद | बच्चों की कोरोना वैक्सीन पर अदार पूनावाला बोले- हम जल्दबाजी नहीं करेंगे | NCB की रडार पर 'प्रसिद्ध हस्ती' का नौकर, अनन्या पांडे के कहने पर आर्यन खान तक ड्रग्स पहुंचाने का शक |